पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और पाक सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर – फोटो : पीटीआई

ख़बर सुनें

जब से भारत ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया है, कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की बौखलाहट कम होने का नाम नहीं ले रही है। कश्मीर को लेकर दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव में शनिवार को पाक ने आग में घी डालने का काम किया है। पाकिस्तान ने कहा कि उसकी सेना भारत की ओर से सामने वाली हर चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। 

विज्ञापन

कश्मीर के हालात पर पाकिस्तान के शीर्ष अधिकारियों ने आज बैठक की। इस बैठक के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक संयुक्त प्रेसवार्ता की। आसिफ गफूर ने कहा कि ऐसा हो सकता है कि कश्मीर मुद्दे से दुनिया का ध्यान भटकाने के लिए भारत पाकिस्तान पर हमला कर सकता है। 

‘कश्मीर मुद्दा एक न्यूक्लियर फ्लैशपॉइंट’

गफूर ने कहा, ‘हमें आशंका है कि भारत कश्मीर मुद्दे से दुनिया का ध्यान हटाने के लिए हमला कर सकता है, लेकिन हम ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।’ उन्होंने कहा कि इसीलिए नियंत्रण रेखा पर अतिरिक्त सैनिक तैनात किए गए हैं। अनायास युद्ध की संभावना की चेतावनी देते हुए सेना प्रवक्ता ने कहा, ‘कश्मीर मुद्दा एक न्यूक्लियर फ्लैशपॉइंट है।’ 

वहीं, कुरैशी ने कहा कि बैठक में फैसला लिया गया है कि  विदेश मंत्रालय में एक विशेष कश्मीर सेल का गठन किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘इस मुद्दे को वैश्विक स्तर पर सामने लाने के लिए सभी दूतावासों में कश्मीरी नागरिकों को नियुक्त किया जाएगा।’ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के बारे में उन्होंने कहा कि हमने कश्मीर मुद्दे को बहुत ऊपर तक उठाया, जो किए बड़ी सफलता रही। 

पाक विदेश मंत्री ने कहा, ‘यूएनएससी में यह मामला पांच दशकों बाद उठाया गया और इस मामले पर एक चर्चा हुई थी- यह एक अच्छा कदम है, विशेषकर तब जब भारत ने इसे रोकने की पूरी कोशिश की।’ उन्होंने कहा कि बैठक में कश्मीर पर यूएनएससी के परामर्शों पर भी ध्यान दिया गया और इस बात पर चर्चा की गई कि इसे किस तरह से आगे बढ़ाया जाए। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here